hindi shayari

Two line Shayari (best Hindi Shayari image)

हमें कहां मालूम था कि इश्क़ होता क्या है
बस, एक तुम मिले और ज़िंदगी मुहब्बत बन गई

Hume kahan malum tha ki ishq hota kya hai
Bass, ek tum mile aur zindagi muhabbat ban gai.

two line shayari

two line shayari

उसने हर नशा सामने लाकर रख दिया और कहा,
सबसे बुरी लत कौन सी हैं, मैने कहा तेरे प्यार की।

Usne Har Nasha Saamne Lakar Rakh Diya Aur Kaha,
Sabse Buri Lat Kaun Si Hain, Maine Kaha Tere Pyar Ki.

मेरे इरादे मेरी तक़दीर बदलने को काफी हैं,
मेरी किस्मत मेरी लकीरों की मोहताज़ नहीं।

Mere Irade Meri Taqdeer Badalne Ko Kaafi Hain,
Meri Kismat Meri Lakeeron Ki Mohtaaz Nahin.

अपनी हार पर इतना शकून था मुझे,
जब उसने गले लगाया जीतने के बाद।

Apni Haar Par Itna Shakoon Tha Mujhe,
Jab Usne Gale Lagaya Jeetne Ke Baad.

जिन जख्मो से खून नहीं निकलता समझ लेना
वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है।

Jinn jakhmo se khoon nahi nikalta samajh lena
bo jakhm kisi apne ne hi diya hai.

सीख नहीं पा रहा हूँ मीठे झूठ बोलने का हुनर,
कड़वे सच से हमसे न जाने कितने लोग रूठ गये।

Seekh Nahin Pa Raha Hun Meethe Jhooth Bolane Ka Hunar,
Kadawe Sach Se Hamse Na Jane Kitne Log Rooth Gaye.

यहाँ सब खामोश हैं कोई आवाज़ नहीं करता,
सच बोलकर कोई, किसी को नाराज़ नहीं करता।

Yahaan Sab Khamosh Hain Koi Aawaaz Nahin Karta,
Sach Bolkar Koi, Kisi Ko Naraaz Nahin Karta.

जिन जख्मो से खून नहीं निकलता समझ लेना
वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है।

Jin Jakhmo Se Khoon Nahi Nikalta Samajh Lena,
Wo Zakhm Kisi Apne Ne Hi Diya Hai.

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close