hindi shayari

Shayari on eye (ankhein Shayari in Hindi)

Hi friends here are some Shayari on eye or eye Shayari ( ankhen Shayari in Hindi) . You can find here some of the best Shayari in Hindi on eyes. or Hindi Shayari , Hindi Shayari in English font, don’t forget to share our site on social media.

ये गुलाबों सा तेरी आँखों का जाम अच्छा है
जिस ख़त में आए तेरा नाम वो पेग़ाम अच्छा है

Ye gulabon sa teri aankhon ka jaam achha hai
Jis khat main aaye tera naam bo pegaam achha hai

two line eye shayari
download image

कैद खानें हैं… बिन सलाखों के,
कुछ यूँ चर्चे हैं तुम्हारी आँखों के।

Kaid Khane Hain… Bin Salakhon Ke,
Kuchh Yun Charche Hain Tumhari Aankhon Ke.

two line eye shayari
download image

Zindagi Shayari in hindi

ख़ुदा बचाए तेरी इन मस्त आँखों से,
फ़रिश्ते भी बहक जायें आदमी क्या है।

Khuda Bachaye Teri In Mast Aankhon Se,
Farishte Bhi Bahek Jayne Aadmi Kya Hai.

two line eye shayari
download image

रख लो आईने हज़ार तसल्ली के लिए,
पर सच के लिए तो,आँखें ही मिलानी पड़ेंगी।

Rakh Lo Aaine Hazaar Tasalli Ke Liye,
Par Sach Ke Liye To, Aankhen Hi Milani Padengi.

two line eye shayari
download image

two line shayari on eyes

एक दूसरे से बिछड़ के कितने रंगीले हो गये,
मेरी आँखें लाल… और तेरे हाथ पीले हो गये।

Ek Doosare Se Bichhad Ke Kitne Rangeele Ho Gaye,
Meri Aankhen Laal… Aur Tere Haath Peele Ho Gaye.

two line eye shayari
download image

दीवाने हैं तेरे, इस बात से इंकार नहीं,
कैसे कहें कि हमें तुमसे प्यार नहीं,
कुछ तो कसूर है तेरी इन आँखों का,
हम अकेले तो गुनहगार नहीं।

Deewane Hain Tere, Is Baat Se Inkaar Nahin,
Kaise Kahen Ki Hamen Tumse Pyar Nahin,
Kuchh To Kasoor Hai Teri In Aankhon Ka,
Ham Akele To Gunhagaar Nahin.

two line eye shayari
download image

कोई दीवाना दौड़ के लिपट न जाये कहीं,
आँखों में आँखें डालकर देखा न कीजिए।

Koyi Deewana Daurh Ke Lipat Na Jaye Kahin,
Aankho Mein Aankhein Daal Kar Dekha Na Kijiye.

two line eye shayari
download image

100+ suvichar in hindi

जो उनकी आँखों से बयां होते हैं,
वो लफ्ज़ शायरी में कहाँ होते हैं।

Jo Unki Aankho Se Bayaan Hote Hain,
Woh Lafz Shayari Mein Kahan Hote Hain.

two line eye shayari
download image

रात गुम सुम है मगर खामोश नही,
कैसे कह दूँ आज फिर होश नही,
ऐसे डूबा हूँ तेरी आँखों की गहराई में,
हाथ में जाम है मगर पीने का होश नही।

Raat Gum Sum Hai Magar Khaamosh Nahi,
Kaise Kah Doon Aaj Phir Hosh Nahi,
Aise Dooba Hoon Teri Aankhon Ki Gahrai Mein,
Haath Mein Jaam Hai Magar Peene Ka Hosh Nahi.

two line eye shayari
download image
1 2 3 4 5Next page

One Comment

Close
Close